Friday, November 28, 2008

शोक

हमे शोक के साथ साथ गर्व देश के उन रणबांकुरों पर जो मुंबई के आंतकवादी हमलों में शहीद हो गए।




मुंबई के आंतकवादी हमलो में शहीद होने वालों की मृत्यु पर हार्दिक शोक

3 comments:

हरि said...

एक जख्‍म ही क्‍या सारा जिगर ही छलनी है
दर्द भी परेशां है कि कहां से उठे

Anil Pusadkar said...

शहीदो को मेरी भी श्रद्धाँजलि

SUBHASH GUPTA said...

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले....देश के उन महान सपूतों को सलाम।